Dosti Shayari

अपने दोस्त

बेशक कम रखता हूं,
अपने दोस्त दिल में रखता हूं।

– लाडी जालखेड़ी

Dil Ke Kareeb

दिन बीत जाते है सुहानी यादें बनकर,
बाते रह जाती है कहानी बनकर,
पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहते है,
कभी मुस्कान तो कभी,
आँखों का पानी बनकर।

Meri Har Khushi

कहीं अंधेरा तो कहीं शाम होगी,
मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी,
कभी मांग कर तो देख हमसे ए दोस्त,
होंठो पर हसीं और हथेली पर जान होगी

Hum Dil Dekhte Hai

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है ,
लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है,
लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,
हम दोस्तो मे दुनिया देखते है।

Dosti Bhi Pyar

खामोशी भी इजहार से कम नहीं होती ,
सादगी भी सिंगार से कम नहीं होती,
ये तो अपना अपना ढंग है,
दोस्त वर्ना दोस्ती भी प्यार से कम नहीं होती।

Ye Dost Shayari

Kheench Kar Utaar Dete Hain Umar Ki Chaadar,
Ye Kambakht Dost Kabhi Boodha Nahi Hone Dete …

~ Gulzar

Mehsoos Dosti Shayari

महसूस करो तो “दोस्त” कहना,
छलकूं तो “जज़्बात”
बदलूँ तो, मुझे ‘वक़्त’ कहना,
थम जाऊँ तो “हालात”।

Dosto Ki Shayari – Latest

Kaun Chahat Hai Apne Dosto Se Doori,
Paapi Pet Ko Paalna Hai Badi Majboori.

Maine Bahut Kuch Paya Is Jahaan Mein …

Per Jisme Mere Dost Shamil Nahi Hote,
Vo Her Khushi Lagti Hai Adhoori.

Rishta – New Dosti Shayari

Khoobsurat Sa Ek Lamha, Kahaani Ban Gya,
Jaane Kaise Vo Meri Zindagi Ka Hissa Ban Gya,

Ek Dost Aisa Aaya Meri Zindagi Mein,
Jis Se Kabhi Na Tootne Wala Rishta Ban Gya …

Bewafa Dost Yaad Shayari

ज़िन्दगी के उदास लम्हों में,
बेवफ़ा दोस्त याद आते हैं।

– Unknown

Classic Dosti Shayari

ज़िद हर इक बात पर नहीं अच्छी,
दोस्त की दोस्त मान लेते हैं।

– दाग़ देहलवी

Quality Time Dosti Shayari

वो कोई दोस्त था अच्छे दिनों का,
जो पिछली रात से याद आ रहा है।

– नाशिर काज़मी

Dosti Shayari, SMS, Message, Poetry about Dost and Dosti. Dosti Plays a very important role in everybody’s life that why Shayari networks brings to you a great collection Shayaris on Dosti.